Anupama written update 7th Feb 2024 : अनुपमा ने अनुज से बात करने से किया इनकार

Anupama written update 7th Feb 2024 : अनुपमा के आज के एपिसोड में श्रुति अनुपमा से कहती है कि हमारी शादी की सारी कैटरिंग की जिम्मेदारी में आपको सोपना चाहती हूं, तभी अनुपमा उसको शादी की बधाइयां देती है। फिर अनुज अनुपमा का शुक्रिया अदा करता है। अनुपम रहती है भगवान करे इस रिश्ते की उम्र लंबी हो। तभी श्रुति को कॉल आता है और वह स्टूडियो के लिए रवाना होती है।

Anupama written update 7th Feb 2024 : आज का एपिसोड

अनुपमा – मुझे रसोई में काम है

आद्या – आध्या रहती है कि श्रुति के पेरेंट्स को शादी फ्री फोन करने के लिए कहना पड़ेगा, अगर पॉप्स की शादी हो जाएगी तो अनुपम कुछ नहीं कर पाएगी

अनुज – अनु मुझे तुमसे जरुरी बात करनी है, प्लीज

अनुपमा – मुझे बात नहीं करनी

तभी बैकग्राउंड में कुछ कुछ होता है गाना बजने लगता है।

Anupama written update
Anupama written update 7th Feb 2024

अनुज – मुझे तुमसे बात करनी है मुझे बस अपने सवालों का जवाब चाहिए उसे दिन भी मुझसे बिना बात किए चली गई थी प्लीज एक बार मुझसे बात कर लो

अनुपमा – मुझे कोई बात नहीं करनी

अनुज – अनु ऐसा मत करो मुझे तुमसे बहुत जरूरी बात करनी है, मुझे मेरे सवालों का जवाब चाहिए जो सिर्फ तुम दे सकती हो

अनुपमा – क्यों बात करनी है, क्या बायत करनी है। आप अपनी जिंदगी में आगे बढ़ चुके हो, मैं अपनी जिंदगी में आगे बढ़ाने की कोशिश कर रही हूं तो क्यों बात करनी है।

अनुज – क्यों बात करनी है ! तुम हर बार ऐसा नहीं कर सकती है ठीक है प्लीज, मैं रिक्वेस्ट करता हूं प्लीज एक बार मुझसे बात कर लो

अनुपमा – मैं यहां काम करती हूं और यह मेरे काम का समय है आप समझने की कोशिश कीजिए

अनुज – तुम मुझे समझने की कोशिश कब करोगी कब समझोगे मुझे प्लीज मुझे पता है यह तुम्हारा काम का जगह है मैं बस यही कहना चाहता हूं कि, 5 साल से इंतजार कर रहा हूं मुझे मेरे सवालों का जवाब दे दो प्लीज

तभी वहां पर यशदीप आता है वह अनुज का हाथ पकड़ता है और उसे कहता है कि मिस्टर कपाड़िया आप मेरे एंप्लॉई के साथ ऐसा बर्ताव नहीं कर सकते।

Anupama written update today episode

तभी बैकग्राउंड में कभी अलविदा न कहना यह गाना बजता है। और अनुज वहां से चला जाता है, और अनुपम अपने काम में लग जाती है, जाते-जाते अनुज कहता है कि दिस इस नॉट राइट अनुपमा हमें किस्मत में ने इसलिए नहीं मिलाया क्योंकि तुम बार-बार मुझसे बिना बात किए चली जाओ, तुम्हें मेरे सवालों के जवाब देने हैं नहीं देने हैं यह तुम्हारी मर्जी पर तुम्हें मुझे सवाल पूछने का हक देना ही होगा यू हैव टू स्पीक विथ मी प्लीज नहीं तो मैं मर जाऊंगा,प्लीज

पाखी लॉयर से बात करते हुए – मिस्टर सोनी मैंने आपको लीगल नोटिस की कॉपी भेजी है आपने पड़ी है ना, ग्रेट अधिक मेहता इस लीगल नोटिस का मुझे मुंह तोड़ जवाब देना है ऐसा केस बनाइये, कि वह जिंदगी भर कोर्ट कचहरी के नाम से काफ उठे, सही है गलत है मुझे नहीं पता मुझे बस यह कैसे जीतना है,

लीला – देख वनराज तेरी बेटी की अकल अभी तक ठिकाने नहीं आई तुझे अपनी बेटी और अब घर की इज्जत प्यारी है तो यह तमाशा यही बंद कर दे, घायल माँ शेरनी होती है, तो घायल बाप बब्बर शेर होता है। तो यह अधिक को पंजे मारना बंद कर

इस अनजान आदमी का अधिक को कॉल आता है और वह कहता है कि पाखी तेरे खिलाफ लीगल एक्शन लेने वाली है तो तू तैयार रहे।

पाखी – अधिक अपने आप को समझता क्या है उसे लगता है कि मैं इस लीगल नोटिस से डर जाउंगी और मेरी बेटी को उसके हवाले कर दूंगी लेकिन नेवर

लीला – अरे अकल की दुश्मन कोर्ट कचहरी करनी जरूरी है जो बात कोर्ट में करनी है वह कोर्ट के बाहर भी तो कर सकती हो ना।

पाखी – यार आप समझती क्यों नहीं, जो मुझे सही लग रहा है मैं वही कर रही हूं।

लीला – तुझे पता नहीं है कि तू गलत है, तेरा केस एकदम वीक है, वह कोर्ट में पाखी और अधिक को नहीं इशानी को पूछा जाएगा कि उसे किसके साथ रहना है, और अगर उसने कह दिया कि उसको उसके बाप के साथ रहना है तो तेरी कहानी तो वही खत्म हो जाएगी। और जिस तरह से तुम अपनी बेटी को दर धमकाती हो ना वह देखकर में लिखकर देती हु, वह तेरे साथ रहने से मना कर देगी, फिर तू क्या करेगी

वनराज – All Right पाखी, मुझे अधिक से काफी सारी दिक्कतें हैं लेकिन बात को बिना मतलब बढ़ाने का कोई फायदा नहीं, और बच्चे को कितना भी डरा धमका को समझ लो बच्चा वही करेगा जो उसको अच्छा लगता है, और इससे पहले ईशानी कोर्ट में अधिक को चुने, हमें कोशिश यह करनी है कि हम वहां तक नौबत न जाने दे

लीला – और हम तुझे ऐसा तो नहीं कह रहे तू अधिक से माफी मांग उसे समझौता कर ले, भले अलग रहो लेकिन शांति से रहो अच्छे मां-बाप बनकर तो रह सकते हो

वनराज – और किसी के लिए नहीं लेकिन ईशानी के लिए कर सकती हो ना

पाखी – स्टॉप इट, मुझे लेक्चर देना बंद कीजिए, ना कोई सॉरी होगा, ना सेटलमेंट और ना ही कोई पैचअप यह मेरी प्रॉब्लम है मैं देख लूंगी आपके बीच में पढ़ने की कोई जरूरत नहीं है। सो सॉरी मैंने आप लोगों से हेल्प मांगी मैंने आप लोगो से कुछ भी एक्सपेक्ट किया। और थैंक यू यह बताने के लिए कि आप मेरे नहीं अधिक के साइड हो, पापा थैंक यू वेरी मच यह कहकर पाखी वहां से चली जाती है।

Anupama 25th October 2023 Written Episode Update : अनुपमा केस हार जाती है

लीला वनराज से कहती है – देखिए यह सब तेरे सर पर चढ़ने का नतीजा है, इतना समझाने के बाद भी वह कुएं में कूद रही है, तू रोक सकता है तो रोक ले नहीं तो तेरी बेटी अपने आप को बर्बाद कर देगी

बापूजी वनराज से कहते है – अधिक को घर बुलाकर उससे शांति से बात करलो, क्योंकि बात हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है इससे पहले वह खराब हो जाए तू संभाल ले, यह तेरी बेटी और घर की इज्जत का सवाल है

अधिक अपने आप से कहता हे – इस लीगल नोटिस से पाखी का ईगो हर्ट हुआ है, अगर तुम इट का जवाब पत्थर से दोगी तो मुझे भी आता है, मैं दिखा दूंगा की एक बाप अपनी बेटी के लिए किस हद तक जाता है

वनराज बापूजी से कहता हे – ठीक हे बापूजी मैं अधिक को घर बुलाता हूं और उससे बात करता हूं।

वही दूसरी और अनुपमा को सब बिता हुआ याद आ रहा होता हे और वह रोती है और अपनी बैग पैक करने लगती है। तभी वहां पर यशदीप आता है और अनुपमा से कहता है

यशदीप – मैं हमेशा पर्सनल बाउंड्रीज की इज्जत की है, लेकिन आज मैं वह लकीर तोड़ने जा रहा हूं, वह अनुपमा से कहता है कि अनुज कपाड़िया से भाग रही हो अनुपमा कहती हे भाग जाना चाहती हु, उनसे बहुत दूर चली जाना चाहती हूं

श्रुति आद्या को बताती हे की अनुज और जोशी बेन मिल गए। हम दोनों वहां चाय पीने गए थे और मुझे नहीं पता था कि वह वहां मुझे मिल जाएगी, मैंने जोशी बहन को AK और मेरी शादी के लिए इनवाइट भी किया है। और हमारी शादी में वही कैटरिंग करेगी, जब मैं पहली बार उनसे मिली थी, मेने नहीं सोचा था की ईतने कम टाइम में हम ऐसे दोस्त बन जायेंगे

आद्या उसे कहती है – की जोशी बहन ने क्या कहा वो आएँगी क्या श्रुति कहती हे की ऑफ कोर्स वो आएगी जोशी बेन फेस्टिवल में नहीं आएगी लेकिन AK और मेरी शादी में केटरिंग उनको ही करनी पड़ेगी, उनकी हेल्थ को लेके में बहुत वरीड थी। वो कहती हे में खुश हु की पराये देश में जोशी बहन के पास यशदीप जैसा इंसान है। उनकी बहुत केयर करता है। यह कहकर श्रुति फ्रेश होने के लिए चली जाती है।

यशदीप अनुपमा से कहता है – रिश्ते ख़तम करके आगे बढ़ने का फैसला आपका था जान सकता हु क्यों , अनुपमा कहती हे की में नहीं चाहती कि उनके ऊपर मेरी जिम्मेदारी आये, उन्हें मुझे सब कुछ दिया खुशिया, प्यार दोस्ती सबकुछ दिया, लेकिन मेने सिर्फ उनको परेशानिया दी, तकलीफ दी। श्रुति जी बोहत अच्छी हे वो कापड़िया जी को बोहत खुश रखेगी

Anupama upcoming story : अगले एपिसोड में

अनुपमा यशदीप से कहती है की में जो कर रही हु वो ठीक तो है ना, यशदीप कहता है दो लोगो के बिच कोई तीसरा कैसे बता सकता है अनुपमा कहती दिमाग तो कह रहा है जो कर रही हो सही हो लेकिन दिल डर रहा है। अनुज श्रुति से कहता हे की उसको कुछ जरुरी काम होता है। अनूप अनुपमा से मिलाने के लिए मोगरा के फूल लेके जाता है।

Leave a Comment